Google Search

Google

Saturday, July 11, 2009

ईश्वर की प्रतिज्ञा

मेरा बेटा अब स्कूल जाने लगा है... जुलाई में स्कूल खुल गए है... अभी कल ही मै अपने बेटे के लिए स्टेशनरी खरीद कर लायी। एक कापी के पिछले प्रष्ट पर कुछ मैंने छपा हुआ पाया जो मुझे काफ़ी अच्छा लगा। मैंने सोचा क्यूँ न उसे सारी दुनिया को पढाऊँ। तो ये रहा जो कापी में छापा था...

भगवान् की प्रतिज्ञा

मेरे मार्ग पर पैर रख कर तो देख,
तेरे सब मार्ग खोल दूँ तो कहना

मेरे लिए कड़वे वचन सुनकर तो देख,
कृपा बरसे तो कहना

मेरी बातें लोगों से करके तो देख,
तुझे मूल्यवान बना दूँ तो कहना

मेरे चरित्र का मनन कर के तो देख,
तुझे मूल्यवान बना दूँ तो कहना

मुझे अपना मददगार बना कर तो देख,
तुझे सबकी गुलामी से छुडा दूँ तो कहना

मेरे लिए आंसू बहा कर तो देख,
तेरे जीवन में आनंद के सागर भर दूँ तो कहना

मेरे लिए कुछ बनकर तो देख,
तुझे कीमती बना दूँ तो कहना

स्वयं को न्योछावर कर के तो देख,
तुझे मशहूर करा दूँ तो कहना

तू मेरा बनकर तो देख,
हर एक को तेरा बना दूँ तो कहना

कैसा लगा अवश्य बताईयेगा.....